मेरी कविताएँ

जन्माष्टमी की शुभकामनाएं

krishna_3.jpg

जब जनम हुआ इस नटखट का |

तब जहां पूरा खिलखिलाया ||


इसके चंचल बचपन में |
पूरा गोकुल भरमाया ||


मीरा राधा खो गयी |
ऐसी प्रीत लगाई ||


हर बुराई का नाश किया |
दुनिया को सीख सिखाई ||


तुम चंचल, प्यारे, निडर बनो |
बस यही गीता का सार ||


मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार ||
मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार ||

Advertisements
Standard

4 thoughts on “जन्माष्टमी की शुभकामनाएं

  1. जब जनम हुआ इस नटखट का |
    तब जहां पूरा खिलखिलाया ||
    इसके चंचल बचपन में |
    पूरा गोकुल भरमाया |
    बहुत बढिया .. जन्‍माष्‍टमी और स्‍वतंत्रता दिवस की आपको बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं !!

    Like

ज़रा टिपियाइये

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s